Fungal Infection Permanent Treatment / दाद, खाज, खुजली को ऐसे करें हमेशा के लिए खत्म।

Permanent Solution for Fungal Infection 
दाद, खाज, खुजली को ऐसे करें हमेशा के लिए खत्म:

कारण फंगल इंफेक्शन किसी को आसानी से प्रभावित कर सकता है। लेकिन आसान हर्बल उपचारों की मदद से संक्रमण को हमेशा के लिए नष्ट कर सकते हैं।






 दाद, खाज, खुजली को ऐसे करें हमेशा के लिए खत्म:
  1. दाद पर अनार के पत्तों को पीसकर लगाने से लाभ होता है।
  2.  दाद को खुजला कर दिन में चार बार नींबू का रस लगाने से दाद ठीक हो जाते हैं। 
  3. केले के गुदे में नींबू का रस मिलाकर लगाने से दाद ठीक हो जाता है। 
  4. चर्म रोग में रोज बथुआ उबालकर निचोड़कर इसका रस पीएं और सब्जी खाएं।  
  5. गाजर का बुरादा बारीक टुकड़े कर लें। इसमें सेंधा नमक डालकर सेंके और फिर जब हल्का गर्म रह जाए तो दाद पर डाल दें।  
  6.  कच्चे आलू का रस पीएं इससे दाद ठीक हो जाते हैं। 
  7. नींबू के रस में सूखे सिंघाड़े को घिस कर लगाएं। पहले तो कुछ जलन होगी फिर ठंडक मिल जाएगी, कुछ दिन तक इसे लगाने से दाद ठीक हो जाता है। 
  8. तीन बार दिन में एक बार रात को सोते समय हल्दी का लेप करते रहने से दाद ठीक हो जाता है। 
  9. दाद होने पर गर्म पानी में अजवाइन पीसकर लेप करें।दाद एक सप्ताह में ठीक हो जाएगा।  
  10. अजवाइन को पानी में मिलाकर दाद धोएं। 
  11. दाद होने पर गुलकंद और दूध पीने से फायदा होगा। 
  12. नीम के पत्ती को दही के साथ पीसकर लगाने से दाद जड़ से साफ हो जाते हैं।
दाद-खाज-खुजली के लिए घरेलू उपाय
 (Home remedies for itching)

 बर्फ के टुकड़े
त्‍वचा जब संक्रमण से जल रही होती है तो मन करता है कि इन पर बर्फ के टुकड़े रख दें। जी हां, यह एक बेहतरीन इलाज है। जो दर्द और जलन दोनों में राहत देता है।

बर्फ के टुकड़े से भरे एक प्लास्टिक बैग को एक साफ-सुथरे कपड़े में लपटे लें और आपका ठंडा सेक तैयार है। जिस जगह दाद, खाज और खुजली हो वहां हर 15 मिनट के अंतराल पर ठंडा सेक लगाएं।

इससे खुजली और दर्द में कमी आएगी। Also Read - Neem Paste Benefits : नीम पेस्ट लगाएं, त्वचा की ये 3 समस्याएं आपको कभी नहीं करेंगी परेशान

 सेब का सिरका
इसका उपचार बहुत पहले से त्वचा संबंधी एलर्जी की समस्या में किया जाता रहा है। इसमें बस थोड़ा सा पानी मिलाइए और इस घोल में रुई को डुबोइए और प्रभावित हिस्से पर धीरे-धीरे लगाइए।

सेब के सिरके में एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो राहत प्रदान करते हैं। यह किसी भी मौसम में इस्‍तेमाल किया जा सकता है।
 
तमाम संक्रमण का एक इलाज नीम की पत्तियां त्‍वचा पर फोड़े-फुंसियां हो गई हैं या कोई और संक्रमण है, इन सबका इलाज नीम की पत्तियां हैं। नीम अपने औषधियों गुणों के लिए जाना जाता है।

 मुठ्ठीभर नीम की पत्तियों को करीब 10 मिनट तक उबालइए। इन नीम की पत्तियों के चिकित्सा गुण पानी में चले जाएंगे। उसके बाद इस पानी से नहा लीजिए और कुछ पानी को बाद में प्रयोग के लिए रख दीजिए।

 नीम की पत्तियों में रोगाणुरोधी गुण होते हैं जो त्वचा में मौजूद अशुद्धियों और विषाक्त पदार्थों को साफ कर देते हैं।



About Dinesh Kumar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

Post a Comment

Would love your thoughts, please comment without any website link.